Home / Chemistry Class 12 / Rajasthan Board Last Years Papers Questions And Answers: रसायन विज्ञान (कक्षा 12) अध्याय-पृष्ठ रसायन

Rajasthan Board Last Years Papers Questions And Answers: रसायन विज्ञान (कक्षा 12) अध्याय-पृष्ठ रसायन

Hello Students,
यहाँ Rajasthan Board, CBSE एवं अन्य Board के Last Years के Papers से कक्षा-12 के विद्यार्थियों के लिए रसायन विज्ञान(Chemistry) के अध्याय-पृष्ठ रसायन(Surface Chemistry) के Questions with Answers दिए जा रहे है 


Q.1 भौतिक अधिशोषण एवं रासायनिक अधिशोषण में कोई दो अन्तर लिखिए ?
Ans. भौतिक अधिशोषण एवं रासायनिक अधिशोषण में अंतर निम्न है –
भौतिक अधिशोषण
रासायनिक अधिशोषण
यह एक उत्क्रमणीय प्रक्रम है
यह एक अन-उत्क्रमणीय प्रक्रम है
अधिशोष्य एवं अधिशोषक के मध्य वांडरवाल बंध होते है
अधिशोष्य एवं अधिशोषक के मध्य इलेक्ट्रान स्थानान्तरण के कारण रासायनिक बंध होते है
Q.2 समांगी एवं विषमांगी उत्प्रेरण को परिभाषित कीजिए प्रत्येक का एक-एक उदाहरण लिखिए
Ans. समांगी उत्प्रेरण – यदि अभिकारक, उत्पाद एवं उत्प्रेरक की प्रावस्था समान हो तो वह समांगी उत्प्रेरण कहलाता है
उदाहरण –
शीशा कक्ष विधि

विषमांगी उत्प्रेरण – यदि किसी रासायनिक अभिक्रिया में अभिकारक, उत्पाद एवं उत्प्रेरक की भौतिक अवस्था पृथक हो तो यह विषमांगी उत्प्रेरण कहलाता है
उदाहरण –
अमोनिया की हैबर विधि

Q.3 द्रव रागी एवं द्रव विरागी कोलाइडो में कोई अंतर लिखिए
Ans. द्रव रागी एवं द्रव विरागी कोलाइडो में अंतर निम्न है –
द्रव रागी कोलाइड
द्रव विरागी कोलाइड
यह एक उत्क्रमणीय प्रक्रम है
यह एक अन-उत्क्रमणीय प्रक्रम है
टिंडल प्रभाव प्रकट करते है
टिंडल प्रभाव प्रकट नहीं करते है
Q.4 यीस्ट(खमीर) में उपस्थित एंजाइम का नाम लिखिए तथा इसके द्वारा उत्प्रेरित अभिक्रिया का समीकरण भी लिखिए
Ans. खमीर में उपस्थित एंजाइम जाइमेस द्वारा ग्लूकोस का एथेनोल में परिवर्तन किया जाता है –

 Q.5 सोने का कोलाइडी साल बनाने की विधि का चित्र सहित वर्णन कीजिए
Ans. सोने का कोलाइडी साल बनाने के लिए विधुत परिक्षेपण विधि का उपयोग किया जाता हैइस विधि में धातु के इलेक्ट्रोडों के मध्य आर्क उत्पन्न किया जाता हैये इलेक्ट्रोड परिक्षेपण माध्यम में डूबे रहते है आर्क की उत्पन्न ऊष्मा से धातु वाष्प में बदल जाती हैयह वाष्प शीघ्र ही हिमशीतित जल द्वारा संघनित होकर कोलाइडी कण बनाती है और धातु का कोलाइडी विलयन प्राप्त होता है

Q.6 साल एवं जैल में क्या अन्तर है ?
Ans. साल – साल एक कोलाइडी तन्त्र है जिसमें परिक्षिप्त प्रावस्था ठोस तथा परिक्षेपण माध्यम द्रव होता है जैसे – गोंद विलयन, सोने का साल आदि
जैल – जैल एक कोलाइडी तन्त्र है जिसमें परिक्षिप्त प्रावस्था द्रव तथा परिक्षेपण माध्यम ठोस होता है
जैसे – मक्खन, पनीर आदि
Q.7 स्कंदन किसे कहते है ? समझाइए
Ans. स्कंदन – किसी कोलाइडी विलयन के अवक्षेप में परिवर्तित होने की प्रक्रिया स्कंदन कहलाती है
Q.8 विधुत अपघट्य की अतिरिक्त मात्रा की अशुद्धियाँ वाले कोलाइडी विलयन के शुद्धिकरण की विधि का चित्र सहित वर्णन कीजिए
Ans. विधुत अपघट्य की अतिरिक्त मात्रा की अशुद्धियों वाले कोलाइडी विलयन के शुद्धिकरण में प्रयुक्त वैधुत अपोहन विधि –
इस विधि में अशुद्धि कोलाइडी विलयन को चित्र के अनुसार दो अपोहन झिल्लियों के मध्य भर लेते हैशुद्ध जल को बाह्य भाग में भर लेते हैदोनों इलेक्ट्रोड बाह्य भाग में होते हैइलेक्ट्रोडों के मध्य विधुत प्रवाहित करने पर अशुद्धि में उपस्थित आयन विपरीत इलेक्ट्रोडों की ओर तीव्र गति से विसरित होते है जिससे विसरण की दर बढ़ जाती हैप्रभावी पृथक्करण के लिए पानी का निरन्तर प्रवाह आवश्यक होता है

Q.9 एरोसाल तथा फोम में क्या अंतर है?
Ans. एरोसाल – यह एक कोलाइडी तन्त्र है जिसमें परिक्षिप्त प्रावस्था द्रव तथा परिक्षेपण गैस होता है । जैसे – कोहरा, बादल
फोम – यह एक कोलाइडी तन्त्र है जिसमें परिक्षिप्त प्रावस्था गैस तथा परिक्षेपण माध्यम ठोस होता है जैसे – केक, रबड़
Q.10 एंजायम उत्प्रेरण किसे कहते है?
Ans उत्प्रेरक के रूप में एंजायम का उपयोग कर जैव रासायनिक अभिक्रिया को संपन्न करने की प्रक्रिया एंजाइम उत्प्रेरण कहलाती है
Q.11 दूध किस प्रकार का इमल्शन है? समझाइए
Ans. यह जल में तेल प्रकार का इमल्शन है इस प्रकार के इमल्शन में तेल, परिक्षिप्त अवस्था तथा जल, परिक्षेपण माध्यम के रूप में होता है
Q.12 उत्प्रेरक की वर्णात्मकता किसे कहते है? समझाइए
Ans. प्रत्येक अभिक्रिया के लिए एक विशिष्ट उत्प्रेरक होता है अर्थात् एक ही उत्प्रेरक सभी अभिक्रियाओं को उत्प्रेरित नहीं कर सकता
Q.13 वैधुतकण संचलन को नामांकित चित्र कि सहायता से समझाइए
Ans. विधुत क्षेत्र के प्रभाव में कोलाइडी कणों का विपरीत आवेशित इलेक्ट्रोडों की ओर अभिगमन, वैधुत कण संचलन कहलाता है इस विधि की सहायता से कोलाइडी कण पर आवेश की प्रकृति ज्ञात की जा सकती है  

विधुत धारा प्रवाहित करने पर, आवेशित कोलाइडी कण अपने से विपरीत आवेशित इलेक्ट्रोड पर पहुँचकर अपना आवेश त्याग देते है अब उदासीन कोलाइडी कण परस्पर संयुक्त होकर, बड़े-बड़े कणों में बदलकर स्कंदित हो जाते है
Q.14 शहर के एक फैक्ट्री को प्रदुषण बोई प्रतिबन्धित कर देता हैक्योंकि फैक्ट्री के स्वामी ने चिमनी पर कोष्ठ नहीं लगाया –
a.    इस कोष्ठ का नाम लिखिए जिसको फैक्ट्री स्वामी ने नहीं लगाया था
b.    उपरोक्त कोष्ठ का स्वच्छ नामांकित चित्र बनाइए
Ans. a. फैक्ट्री के स्वामी ने धूम्र अवक्षेपण नामक कोष्ठ नहीं लगाया
b. धूम्र अवक्षेपण का नामांकित चित्र निम्न है –

Q.15 स्कंदन या ऊर्णन क्षमता को परिभाषित कीजिए
Ans. वैधुत अपघट्य की वह न्यूनतम मात्रा जिसकी सहायता से कोलाइडी विलयन का स्कंदन या ऊर्णन होता है उसे स्कंदन या ऊर्णन क्षमता कहते है
Q.16 निम्नलिखित में प्रयुक्त अधिशोषक के नाम लिखिए
a.    विलयन में रंगीन पदार्थों को हटाने में
b.    गैस मास्क में
Ans. a. चारकोल
b. सक्रिय चारकोल
Q.17 वेनिशिंग क्रीम किस प्रकार का पायस है, इसका उचित मान लिखिए
Ans. वेनिशिंग क्रीम जल में तेल प्रकार का पायस है
Q.18 कोलाइडी विलायनों के शुद्धिकरण की अपोहन विधि का नामांकित चित्र बनाइए
Ans.
Q.19 अवशोषण एवं अधिशोषण में कोई दो अंतर लिखिए
Ans अवशोषण एवं अधिशोषण में अंतर निम्नलिखित है –
अवशोषण
अधिशोषण
यह असमान गति से होता है
यह समान गति से होता है
यह स्थूल प्रक्रिया है
यह एक पृष्ठीय प्रक्रिया है
Q.20 एल्कोहाल को पेट्रोल में परिवर्तित करने वाले जीओलाइट उत्प्रेरक का नाम लिखिए
Ans. ZSM-5
Q.21 स्वर्णांक अथवा स्वर्ण संख्या से आप क्या समझते है?
Ans. रक्षी कोलाइड की मिलीग्रामों में मात्रा जो 10mL गोल्ड हाईड्रासाल के स्कंदन को 10% NaCl के 1mL को मिलाने पर रोकने में आवश्यक हो, गोल्ड संख्या कहलाती है

About Dharmendra Chaudhary

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *